Credit Card Kya Hota Hai – क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें {पूरी जानकारी}

Credit Card Kya Hota Hai : दोस्तों लेन देन के लिए ATM की भांति क्रेडिट कार्ड का भी बेहद उपयोग होता है। परंतु क्रेडिट कार्ड ऐसे ही किसी भी कस्टमर को नहीं दिया जाता है बल्कि जब बैंक यह देखती है कि कोई कस्टमर क्रेडिट कार्ड पाने का हकदार है तभी बैंक उसे क्रेडिट कार्ड ऑफर करती है।

क्रेडिट कार्ड प्राप्ति के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। इस कार्ड को पाने के लिए आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा होना चाहिए साथ ही आपके पास रेगुलर इनकम भी होनी चाहिए। इस आर्टिकल में आज हम जानेंगे कि “क्रेडिट कार्ड क्या है” और “क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है?”

CONTENTS SHOW

क्रेडिट कार्ड क्या होता है? (Credit Card Kya Hota Hai)

विभिन्न बैंक और फाइनैंशल इंस्टिट्यूट के द्वारा दिया जाने वाला क्रेडिट कार्ड एक प्रकार का पतला प्लास्टिक का कार्ड होता है, जिसकी लिमिट पहले से ही सेट होती है, आप उसी लिमिट के अंतर्गत क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आपके द्वारा खरीदे गए सामान की पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड प्री-अप्रूव्ड लिमिट से पैसे उधार के तौर पर लेने की सुविधा देता है।

इसे उधारी खाता भी कहा जाता है, क्योंकि यह तब काम आता है जब आपके पास नगद पैसे नहीं होते हैं परंतु आप को खरीदारी करने की आवश्यकता होती है, क्योंकि क्रेडिट कार्ड आपको बिना पैसे के भी शॉपिंग करने का ऑप्शन देता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

इसके द्वारा आप जो पैसे इस्तेमाल में लेते हैं उसकी पेमेंट आपको निश्चित दिनों में करनी होती है। निश्चित दिनों में पेमेंट नहीं करने पर पेनल्टी चार्ज आपसे वसूल किया जाता है।

अधिकतर क्रेडिट कार्ड की रीपेमेंट आपको 1 महीने में करनी होती है अर्थात अगर आपने 1 जून के दिन क्रेडिट कार्ड से कोई खरीदारी की है तो आपको उसकी पेमेंट 1 जुलाई को करनी होती है। हालांकि कुछ क्रेडिट कार्ड 45 दिन तक की भी लिमिट पेमेंट करने के लिए देते हैं।

Credit Card का हिंदी में क्या अर्थ होता है?

क्रेडिट कार्ड को हिंदी भाषा में उधार पत्रक कहते हैं अथवा कई जगह पर इसे उधारी खाता भी कहते हैं। क्रेडिट कार्ड देने वाली बैंक अथवा इंस्टिट्यूट व्यक्ति के क्रेडिट स्कोर, उसके बैंक स्टेटमेंट और दूसरी एलिजिबिलिटी के पैमाने को देख कर के ही क्रेडिट कार्ड ऑफर करती है।

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

हमारे देश में विभिन्न प्रकार के क्रेडिट कार्ड मौजूद हैं जिनमें से मुख्य की जानकारी नीचे बताए अनुसार है।

बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड

इस कार्ड में आपको बचे हुए पेमेंट को अदा करने के लिए 6 महीने से लेकर के 21 महीने का समय प्राप्त होता है। हालांकि एक बार आपको इसमें बैलेंस ट्रांसफर करने की फीस अदा करनी होती है जो कि टोटल पैसे का 5% होता है। बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड पेनल्टी से बचने के लिए बेहतरीन क्रेडिट कार्ड है।

फ्यूल क्रेडिट कार्ड

पेट्रोल पंप के द्वारा चलाए जाने वाले ऑफर का फायदा आप इस कार्ड के द्वारा उठा सकते हैं। आपको इस कार्ड के द्वारा पेट्रोल अथवा डीजल भराने पर रीवार्ड प्वाइंट मिलता है।

सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड

ऐसे कस्टमर जिनका क्रेडिट स्कोर खराब है उन्हें सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करना चाहिए क्योंकि यह उनके लिए बहुत ही सहायक साबित होता है। किसी नए अकाउंट को खोलने की अवस्था में अथवा किसी लोन के लिए आवेदन करने के लिए यह क्रेडिट कार्ड आपके क्रेडिट स्कोर को सही करने में आपकी सहायता करता है।

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड

रीवार्ड्स क्रेडिट कार्ड के द्वारा ट्रांजैक्शन करने पर प्रति ट्रांजैक्शन कुछ ना कुछ पुरस्कार अवश्य मिलता है।

शॉपिंग क्रेडिट कार्ड

शॉपिंग क्रेडिट कार्ड के द्वारा शॉपिंग करने पर अथवा ट्रांजैक्शन करने पर डिस्काउंट की प्राप्ति होती है। इसके द्वारा आप ऑनलाइ/ ऑफलाइन खरीदारी कर सकते हैं साथ ही साल भर डिस्काउंट वाउचर और कैशबैक का फायदा उठा सकते हैं।

ट्रैवल क्रेडिट कार्ड

इसके द्वारा आप रेलवे टिकट की बुकिंग,बस टिकट की बुकिंग और हवाई जहाज की टिकट की बुकिंग कर सकते हैं। इसके अलावा टैक्सी की बुकिंग कर सकते हैं साथ ही डिस्काउंट भी प्राप्त कर सकते हैं जिसे आप रिडीम कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें

क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें निम्नानुसार हैं।

  • 18 साल अथवा उससे अधिक की उम्र वाले लोगों को ही क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा।
  • जिन लोगों का सिविल स्कोर अच्छा होगा उन्हें ही क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा।
  • जिन लोगों की रेगुलर इनकम है वही क्रेडिट कार्ड पाने के हकदार होंगे।
  • समय पर क्रेडिट कार्ड की पेमेंट ना करने पर बैंक अथवा फाइनेंस इंस्टिट्यूट पेनल्टी वसूलने के हकदार होंगे।
  • क्रेडिट कार्ड से पैसे लेने के बाद पेमेंट ना करने पर बैंक कानूनी कार्रवाई के लिए भी स्वतंत्र है।
  • क्रेडिट कार्ड पर बैंक निश्चित मात्रा में ब्याज दर लेती है।
  • सामान्य तौर पर बैंक के द्वारा 21 दिन से लेकर के 52 दिनों तक लोन की अवधि दी जाती है।
  • क्रेडिट कार्ड की लिमिट के आगे पैसे नहीं खर्च किए जा सकते।

क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है?

क्रेडिट कार्ड बनवाने की प्रक्रिया ऑफलाइन और ऑनलाइन होती है। कुछ बैंक ऐसी है जो ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने की सुविधा देती है। आप उन बैंक की आधिकारिक वेबसाइट को विजिट करके अथवा एप्लीकेशन का इस्तेमाल करके क्रेडिट कार्ड बनवा सकते हैं।

इसके अलावा ऑफलाइन प्रक्रिया के अंतर्गत आपको बैंक में जाना होता है और क्रेडिट कार्ड हेतु आवेदन फॉर्म भरना होता है साथ ही आवश्यक दस्तावेज को अटैच करके जमा करना होता है। इसके पश्चात आपकी एलिजिबिलिटी के हिसाब से आपके लिए सूटेबल क्रेडिट कार्ड बैंक के द्वारा जारी किया जाता है।

क्रेडिट कार्ड से पैसे कैसे निकाला जाता है?

क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने के विभिन्न तरीके हैं। क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने के लिए आप इसका इस्तेमाल ठीक उसी प्रकार से कर सकते हैं जिस प्रकार आप डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं।

हालांकि जब आप क्रेडिट कार्ड को एटीएम मशीन के अंदर डालें तो उसके पश्चात आपको क्रेडिट वाले ऑप्शन का सिलेक्शन करना होता है और उसके पश्चात अपने क्रेडिट कार्ड का पिन नंबर डालना होता है जो कि 4 अंकों का अथवा 6 अंकों का हो सकता है।

पिन नंबर डालने के पश्चात आपको जितनी रकम निकालनी है उतनी रकम डालनी होती है और Withdraw पर क्लिक करना होता है। ऐसा करने पर पैसे एटीएम मशीन में से बाहर आ जाते हैं।

 हालांकि याद रखें कि कुछ क्रेडिट कार्ड ऐसे हैं जो 1 दिन में निश्चित लिमिट में ही पैसे निकालने की सुविधा देते हैं। इसके अलावा आप चाहे तो क्रेडिट कार्ड के पैसे पेटीएम वॉलेट में भी ऐड कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड कैसे इस्तेमाल करते हैं?

क्रेडिट कार्ड को इस्तेमाल करने की प्रक्रिया निम्नानुसार है।

1. सर्वप्रथम क्रेडिट कार्ड लेकर के किसी भी बैंक के एटीएम सेंटर में जाए।

2. एटीएम सेंटर में पहुंचने के पश्चात एटीएम मशीन के अंदर अपना क्रेडिट कार्ड डालें और स्वाइप करें।

3. अब स्क्रीन पर आपको विभिन्न ऑप्शन दिखाई देंगे, जिनमें से आपको क्रेडिट वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

4: अब आगे की प्रक्रिया में आप जितने पैसे निकालना चाहते हैं उतने पैसे आपको इंटर करना है।

5. अब आपको इंटर वाली बटन दबानी है।

6. अब आपकी स्क्रीन पर क्रेडिट कार्ड का पिन नंबर डालने के लिए कहा जाएगा, आपको क्रेडिट कार्ड का पिन नंबर डाल देना है।

7. अब आपको फिर से एंटर वाली बटन दबानी है।

इतनी प्रक्रिया करने के पश्चात थोड़ी ही देर के अंदर एटीएम मशीन में से नगद के तौर पर पैसे निकल आएंगे।

क्रेडिट कार्ड आप ऑनलाइन और ऑफलाइन बनवा सकते हैं। नीचे दोनों ही प्रक्रिया के बारे में चर्चा की गई है।

ऑफलाइन क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं?

  • सर्वप्रथम अपने आवश्यक दस्तावेज की फोटो कॉपी लेकर के अपने बैंक अकाउंट वाले बैंक की ब्रांच में जाएं।
  • बैंक की ब्रांच में जाने के पश्चात संबंधित कर्मचारी से क्रेडिट कार्ड एप्लीकेशन फॉर्म हासिल करें।
  • अब एप्लीकेशन फॉर्म के अंदर मांगी जा रही सभी जानकारियों को दर्ज करें। जैसे कि आपका नाम, पिता का नाम, फोन नंबर, ईमेल आईडी, अकाउंट नंबर इत्यादि।
  • सभी जानकारियों को भरने के बाद एक बार क्रॉस चेक कर ले की जानकारियां सही है अथवा नहीं।
  • अगर सब कुछ सही है तो फोन के अंदर निश्चित जगह में अपने सिग्नेचर भी करें साथ ही आवश्यक दस्तावेज की फोटोकॉपी को अटैच करें।
  • अब एप्लीकेशन फॉर्म को संबंधित कर्मचारी के पास जमा कर दें।

इस प्रकार से कर्मचारी के द्वारा आपके आवेदन फॉर्म का वेरिफिकेशन किया जाएगा और एलिजिबल पाए जाने पर आप के नाम पर क्रेडिट कार्ड जारी किया जाएगा जिसे आप बैंक से ही प्राप्त कर सकेंगे या फिर पोस्ट के द्वारा आप के घर पर क्रेडिट कार्ड भेजा जाएगा।

ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं?

  1. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले संबंधित बैंक की आधिकारिक वेबसाइट को किसी भी ब्राउज़र में ओपन करें।
  1. वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचने के पश्चात क्रेडिट कार्ड वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।
  1. अब जिस प्रकार का क्रेडिट कार्ड आप पाना चाहते हैं उसके ऊपर क्लिक करें।
  1. अब नीचे दिखाई दे रहे अप्लाई नाउ वाले ऑप्शन पर क्लिक करें।
  1. अब जितनी भी जानकारी आपको भरने के लिए कहा जा रहा है उसे स्क्रीन पर दिखाई दे रहे एप्लीकेशन फॉर्म के अंदर दर्ज करें।
  1. अब अपने आवश्यक दस्तावेज को डिजिटल फॉर्मेट में अपलोड कर दें।
  1. अब सबसे आखरी में सबमिट वाली बटन पर क्लिक करें।
  1. इस प्रकार से आप क्रेडिट कार्ड हेतु ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड के नुकसान

क्रेडिट कार्ड के डिसएडवांटेज निम्नानुसार है।

  • क्रेडिट कार्ड की पेमेंट लेट करने पर आप से पेनल्टी फीस वसूली जाती है जो कि काफी अधिक होती है। आपको यहां पर दैनिक तौर पर पेनल्टी फीस देनी होती है।
  • कभी-कभी कुछ क्रेडिट कार्ड में छूपे हुए चार्ज भी होते हैं जिनके बारे में कस्टमर को पता नहीं होता है।
  • इंटरनेशनल वेबसाइट पर इसका इस्तेमाल करने पर धोखाधड़ी होने की संभावना अधिक होती है।
  • लिमिट से ज्यादा शॉपिंग करने पर एक्स्ट्रा फीस को बिल में शामिल किया जाता है।
  • समय पर पेमेंट नहीं करने पर आप क्रेडिट कार्ड के बोझ के तले दबते चले जाते हैं।
  • अगर आप पेमेंट सही समय पर नहीं करते हैं तो इससे आपका क्रेडिट स्कोर भी खराब होता है।

क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड के एडवांटेज निम्नानुसार है।

  • आप कार्ड के द्वारा ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं।
  • सही समय पर कार्ड से लिए गए पैसे की पेमेंट करने पर आपका क्रेडिट स्कोर भी अच्छा होता है।
  • कार्ड से पेमेंट करने पर आपको कैशबैक और रीवार्ड प्वाइंट भी हासिल होता है जिसका इस्तेमाल आप शॉपिंग में कर सकते हैं।
  • अधिकतर क्रेडिट कार्ड में सालाना चार्ज नहीं लिया जाता है।
  • आप क्रेडिट कार्ड के द्वारा किसी भी प्रोडक्ट को किस्त पर ले सकते हैं और आसानी से क्रेडिट कार्ड में हर महीने किस्त भर सकते हैं।
  • क्रेडिट कार्ड के द्वारा हर महीने आपको स्टेटमेंट दिया जाता है जिसमें यह लिखा जाता है कि आपने कब, कितनी और कहां पर शॉपिंग की है।

“Credit Card Kya Hota Hai” से सम्बंधित प्रश्न उत्तर {FAQs}

क्रेडिट कार्ड की लिमिट कितनी होती है?

यह फाइनेंस इंस्टीट्यूट तय करता है।

डेबिट और क्रेडिट क्या होता है?

डेबिट अर्थात पैसे निकालना और क्रेडिट अर्थात पैसे जमा होना।

क्रेडिट अच्छा है या बुरा?

सही इस्तेमाल किया जाए तो अच्छा।

क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने पर कितना ब्याज लगता है?

बैंक की ब्याज दर के अनुसार।

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए?

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए 17000+ सैलरी होनी चाहिए?

अंतिम शब्द

आशा करते हैं दोस्तों आपको आज का यह आर्टिकल पसंद आया होगा। आज हमने Credit Card Kya Hota Hai और क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है।

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो हमारे ब्लॉग को जरूर सब्सक्राइब करें और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके धन्यवाद।

Credit Card Kya Hota Hai - क्रेडिट कार्ड के नियम और शर्तें {पूरी जानकारी}

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap