लिपि किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार – lipi kise kahate hain

आज हम जानने वाले हैं लिपि किसे कहते हैं? लिपि के प्रकार या भेद, लिपि की परिभाषा और अर्थ, तो चलिए जान लेते हैं

लिपि किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार - lipi kise kahate hain
lipi kise kahate hain

लिपि किसे कहते हैं? उदाहरण सहित (Lipi kise kahate hain)

“किसी भी भाषा के लिखने की विधि को लिपि कहते हैं। या मौखिक भाषा को लिखने के लिए जो चिन्ह, बनाए गए हैं उसे लिपि कहते हैं।”

लिपि का अर्थ (Lipi ka arth)

लिपि का अर्थ होता है किसी भाषा की लिखावट है लिखने का ढंग। विचारों को व्यक्त करने के दो माध्यम है लिखित और मौखिक।

लिपि की परिभाषा (Lipi ki paribhasa)

“किसी भी भाषा को लिखकर प्रकट करने के लिए निश्चित किए गए चिन्हों को लिपि कहते हैं।” या

लिपि मनुष्य के विचारों के संप्रेषण का माध्यम है। अर्थात किसी भाषा को लिखने की विधि को लिपि कहते हैं। प्रत्येक भाषा की एक अलग लिपि होती है।

जैसे – हिंदी और संस्कृत भाषा की लिपि का नाम देवनागरी लिपि है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अंग्रेजी भाषा की लिपि का नाम रोमन है तथा उर्दू भाषा की लिपि का नाम फारसी है।

इन्हे भी पढ़े

कुछ भाषा और उनकी लिपियाँ

भाषालिपि
हिंदी देवनागरी
अंग्रेजी रोमन
उर्दू अरबी-फारसी
पंजाबी गुरुमुखी लिपि
गुजराती गुजराती लिपि
बांगला बंगाली लिपि
तमिलतमिल लिपि
कुछ भाषा और उनकी लिपियाँ

लिपि कितने प्रकार के होते हैं? या लिपि के भेद

मुख्य रूप से लिपि तीन प्रकार के होते हैं।

चित्रलिपि – चित्र लिपि का प्रयोग चीन, जापान और कोरिया आदि देशों में होता है।

ब्राम्हीलिपि – ब्राम्हीलिपि दक्षिण एशिया एवं दक्षिण पूर्व एशिया में प्रयोग की जाती है। भारत की सबसे प्राचीन लिपि है। ब्राम्हीलिपि का प्रयोग वैदिक आर्यों ने शुरू किया था।

फोनेशियन लिपि – यह लिपि यूरोप, मध्य एशिया और उत्तरी अफ्रीका में प्रयुक्त होती है।

गुप्त काल के आरंभ में ब्राह्मी लिपि के दो भेद हो गए थे।

1.उत्तरी ब्राह्मी लिपि

2.दक्षिणी ब्राह्मी लिपि

उत्तरी ब्राह्मी लिपि से देवनागरी लिपि, राजस्थानी लिपि, गुजराती लिपि, महाजनी लिपि और कैथी लिपि निकली है।

दक्षिण ब्राह्मी लिपि से तमिल लिपि, कलिंग लिपि, तेलुगु लिपि, ग्रंथ लिपि और मलयालम लिपि निकली है।

देवनागरी लिपि किसे कहते हैं? देवनागरी लिपि की विशेषताएं

देवनागरी लिपि की उत्पत्ति ब्राह्मी लिपि से हुई है। तथा इस लिपि को लोकनागरी एवं हिंदी लिपि भी कहा जाता है।

150 वर्षों के लंबे समय के संघर्ष के बाद देवनागरी लिपि हिंदी भाषा की एकमात्र और अधिकृत लिपि बनी।

देवनागरी लिपि की पहचान या विशेषताएं क्या है?

(1) देवनागरी लिपि हमेशा बाएं से दाएं और लिखी जाती है।

(2) देवनागरी लिपि में कुल वर्णों की संख्या 52 होती है

(3) लिपि के ऊपर शिरोरेखा का प्रयोग होता है।

(4) संयुक्ताक्षर का प्रयोग होता है।

कलाकार लिपि किसे कहते हैं?

प्राचीन समय में मेसोपोटामिया में निवास करने वाले लोगों की लिपि को कलाकार लिपि कहते है। सुमेर के लोगों के द्वारा यह लिपि निर्मित की गई थी। इस लिपि को किल जैसे धारदार वस्तुओं के द्वारा चिकनी मिट्टी पर लिखते थे।

गुरुमुखी लिपि किसे कहते हैं?

गुरुमुखी का अर्थ होता है गुरु के मुंह से निकली हुई। इसकी शुरुआत गुरु अंगद देव द्वारा किया गया था। गुरुमुखी में 3 स्वर और 32 व्यंजन के साथ कुल 35 वर्ण होते हैं। पंजाबी भाषा गुरुमुखी लिपि लिखी जाती है।

अरबी लिपि क्या है?

अरबी लिपि दाएं से बाएं लिखी और पढ़ी जाती है। इस लिपि में आयुर्वेद फारसी और उर्दू भाषा में लिखी जाती है।

रोमन लिपि किसे कहते हैं?

रोमन लिपि में अंग्रेजी सहित पश्चिम और मध्य यूरोप की सारी भाषाएं लिखी जाती है। और यह लिपि सबसे ज्यादा प्रचलित है।

अंग्रेजी, जर्मन, फ्रांसीसी, स्पैनिश, पुर्तगाली, इतालवी, डच, स्वीडिश, रोमानि याई आदि भाषाएं रोमन लिपि में लिखी जाती है।

यह लिपि देवनागरी की तरह बाएं से दाएं और लिखी जाती है रोमन लिपि में 5 स्वर तथा 21 व्यंजन के साथ कुल 26 वर्ण होते हैं।

गुजराती लिपि क्या है?

गुजराती लिपि, नागरी लिपि से उत्पन्न हुई है। तथा गुजराती लिपि पहली बार 1797 में विज्ञापन में छपी थी। इस लिपि में शिरोरेखा का प्रयोग नहीं किया जाता है। गुजराती भाषा गुजराती लिपि में लिखी जाती है।

ब्रेल लिपि किसे कहते हैं?

ब्रेल लिपि का उपयोग विश्व भर में नेत्रहीन को पढ़ने और लिखने में किया जाता है। ब्रेल लिपि का आविष्कार 1884 में नेत्रहीन फ्रांसीसी लेखक लुई ब्रेल ने मात्र 15 वर्ष की आयु में किया था।

ब्रेल लिपि में छह बिंदुओं के उपयोग से 64 अक्षर और चिन्ह वाली नीतियां बनाई गई है। यह लिपि दुनिया के लगभग सभी देशों में प्रयोग की जाती है। आधुनिक ब्रेल लिपि को 8 बिंदुओं के सेल में विकसित कर लिया गया है, जिसमें 64 अक्षर के बजाए 256 अक्षर, संख्या, विराम चिन्ह के पढ़ने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

कुछ अन्य लिपियां (lipi in hindi)

बंगाली लिपि – बंगाली भाषा
तमिल लिपि – तमिल भाषा
चीनी लिपि – मंदारिन, कैंटोनी भाषा
कांजी लिपि – जापानी भाषा।

लिपि से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न का उत्तर (FAQs)

अंतरराष्ट्रीय ब्रेल लिपि दिवस कब मनाया जाता है?
अंतरराष्ट्रीय ब्रेल लिपि दिवस 4 जनवरी को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है।

हिंदी भाषा की लिपि क्या है?
हिंदी भाषा की लिपि देवनागरी लिपि है।

भारत में लिपि की प्राचीनता का सबसे पुष्ट प्रमाण कहां मिलता है?
भारत में लिपि की प्राचीनता का सबसे पुष्ट प्रमाण सिंधु घाटी की सभ्यता में मिलता है।

विभिन्न प्राचीन भारतीय लिपियों का उल्लेख करने वाला बौद्ध ग्रंथ कौन सा है?
विभिन्न प्राचीन भारतीय लिपियों का उल्लेख करने वाला बौद्ध ग्रंथ ललित विस्तर है।

प्राचीन देवनागरी का विकास किससे हुआ?
प्राचीन देवनगरी का विकास कुटिल लिपि से हुआ।

अंतिम शब्द,

उम्मीद करते हैं लिपि क्या है या लिपि किसे कहते हैं? (lipi kise kahate hain) और इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां पसंद आई होगी इसी तरह के जानकारी युक्त लेख पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को जरूर सब्सक्राइब करें और ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों को शेयर करना न भूले धन्यवाद।

इन्हे भी पढ़े

2 thoughts on “लिपि किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार – lipi kise kahate hain”

  1. 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊

    Reply
  2. I am gopi kishan. A teacher of ronak public school. I completed my p. H. D. In language (Hindi) .I have a passion of reading as well as writing. ☺☺

    Reply

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap