PPF Calculator – Online Public Provident Fund Calculator

PPF Calculator : अगर आपको भविष्य में ढेर सारे पैसों की जरूरत है तो आपको PPF अकाउंट के बारे में अवश्य ही पता कर लेना चाहिए, क्योंकि अगर आप निश्चित मात्रा में पीपीएफ अकाउंट में पैसे इन्वेस्ट करते हैं। तो भविष्य में 15 सालों के बाद जब आपका पीपीएफ अकाउंट परिपक्व हो जाएगा।

अतः आपको अपने मूल धन के साथ ब्याज को जोड़ करके एक बड़ी अमाउंट मिलेगी, जिसका इस्तेमाल आप अपनी आवश्यकता के हिसाब से कर सकते हैं।

PPF Calculator (Online Public Provident Fund Calculator)

PPF Calculator
₹0 ₹2,00,000
1 30
Current Rate of Interest (%)

Amount Invested Vs Return

  • Invested
  • Total Value

Maturity Value

Estimated Gains

94%

Net Return percentage

PPF Calculator से सम्बंधित कुछ हिंदी मीनिंग

Amount Per Yearराशि प्रति वर्ष
Durationअवधि
Current Rate of Interestवर्तमान ब्याज दर
Amount InvestedAmount Invested
Returnप्राप्त करना
Maturity Valueपरिपक्वता – मूल्य
Estimated Gainsअनुमानित लाभ

पीपीएफ केंद्र सरकार की एक योजना है जिसमें अगर आप पैसे डालते हैं तो आपका पैसा पूरी तरह से सुरक्षित रहता है। आइए इस आर्टिकल में जान लेते हैं कि “पीपीएफ क्या है?” और “PPF Calculator क्या है?

Read Also :

पीपीएफ क्या है? (What is PPF in Hindi)

पीपीएफ एक प्रकार की सरकारी योजना है जिसे देश में वित्त मंत्री के राष्ट्रीय सेविंग इंस्टीट्यूट के द्वारा साल 1968 में प्रारंभ किया गया था। इस योजना के उद्देश्यों में कई बातों को शामिल किया गया था। जैसे छोटी मोटी सेविंग करने में लोगों की सहायता करना और उनके द्वारा जो पैसे बचत के तौर पर इकट्ठे किए गए हैं उस पर ब्याज देना शामिल है।

 PPF योजना में इन्वेस्टमेंट करने पर व्यक्ति को बहुत ही आकर्षक ब्याज की प्राप्ति होती है और सबसे खास बात यह है कि जो ब्याज मिलता है उस पर किसी भी प्रकार का टैक्स अप्लाई नहीं होता है।

पीपीएफ योजना के अंतर्गत जो अकाउंट ओपन किया जाता है उसे PPF Account कहा जाता है। इसमें अकाउंट ओपन करने वाले व्यक्ति के द्वारा अपने सामर्थ्य के हिसाब से पैसे इन्वेस्टमेंट किए जाते हैं और जब निवेश की अवधि पूरी हो जाती है तो निश्चित समय के पश्चात व्यक्ति को अपने पैसे निकालने का ऑप्शन प्राप्त होता है।

पीपीएफ एक Long Term इन्वेस्टमेंट स्कीम भी है, जहां पर आपको अपने सेविंग के साथ-साथ ब्याज की प्राप्ति भी होती है। ऐसे व्यक्ति जो रिटायरमेंट प्लानिंग कर रहे हैं या फिर बिना जोखिम के टैक्स सेविंग करना चाहते हैं वह पीपीएफ मे अपने पैसे इन्वेस्टमेंट करना चालू कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें पीपीएफ अकाउंट ओपन करवाना पड़ेगा।

पीपीएफ का फुल फॉर्म (Full Form of PPF)

PPF का पूरा नाम अंग्रेजी में Public Provident Fund होता है जबकि हिंदी भाषा में इसे सार्वजनिक भविष्य निधि कहा जाता है।

PPF Calculator क्या है?

PPF Calculator के द्वारा आप इस बात की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि अगर आपके द्वारा एक निश्चित पैसे को लगातार इन्वेस्टमेंट किया जाता है तो वह पैसा निश्चित अवधि पूरी होने के पश्चात बढ़कर कितना हो जाएगा।

PPF Calculator के द्वारा आप इस बात की भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि आपको कितने ब्याज की प्राप्ति होगी और जब मैच्योरिटी हो जाएगी तो आपको कितनी रकम हासिल होगी।

PPF Calculator का इस्तेमाल कैसे करें?

अगर आप PPF Calculator का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको चार प्रकार के डाटा का यूज करना पड़ेगा, जो निम्नानुसार है –

1. नियमित निवेश (किस्त) की राशि (Amount Invested)

इसे अमाउंट ऑफ रेगुलर इन्वेस्टमेंट कहा जाता है। यहां पर आपको उस पैसे को डालना होता है जो आप हर महीने जमा करने वाले हैं। बता दें कि आप तब तक मैच्योरिटी के पैसे का पता नहीं लगा पाएंगे जब तक आप फिक्स पैसे नहीं जमा करेंगे। पब्लिक प्रोविडेंट फंड में हर साल कम से कम ₹500 से लेकर के अधिकतम ₹150000 तक इन्वेस्टमेंट करने की छूट होती है।

2. किस्तें जमा करने का अंतराल (Installment Payment Interval)

इसे पीरियोडिक इंटरवल ऑफ इंस्टॉलमेंट कहा जाता है। व्यक्ति के द्वारा जब चाहे तब पीपीएफ अकाउंट में पैसे डाले जा सकते हैं परंतु कैलकुलेटर के अंदर आपको एक तय अंतराल को भी दर्ज करना होता है। जैसे कि मासिक, तिमाही, छमाही अथवा सालाना।

3. इंटरेस्ट रेट (Rate of Interest)

इसे इंटरेस्ट रेट ऑफ पीपीएफ कहा जाता है। सरकार के द्वारा समय-समय पर पीपीएफ के अंतर्गत जो ब्याज होता है उसमें बदलाव किए जाते हैं और सरकार हर 3 महीने के अंदर पीपीएफ के ब्याज दरों की समीक्षा करती है। इसलिए कैलकुलेटर के द्वारा हम यह नहीं पता कर सकते हैं कि फ्यूचर में ब्याज दर कितनी होगी।

इसलिए हम मैच्योरिटी के पैसे को भी नहीं जान सकते हैं परंतु अगर हम यह मान लेते हैं कि वर्तमान के समय में जो ब्याज दर चल रही है वह आगे भी चलती रहेगी तो आप मैच्योरिटी की रकम के बारे में पता कर सकते हैं। इससे आपको यह अंदाजा लग जाता है कि मैच्योरिटी पूरी होने के बाद आपको कितने पैसे मिलेंगे। इसलिए आप कैलकुलेटर में पीपीएफ की वर्तमान में जो ब्याज दर चल रही है उसे इंटर करें।

4. टोटल टाइम पीरियड (Total Time)

इसे टोटल पीरियड ऑफ डिपाजिट कहा जाता है। अगर सामान्य तौर पर देखें तो जो पीपीएफ अकाउंट होता है वह 15 साल के लिए होता है परंतु कुछ विशेष स्थिति जैसे कि हाईेरएजुकेशन, ट्रीटमेंट, शादी वगैरह में व्यक्ति चाहे तो 5 साल के भीतर भी अपने पीपीएफ अकाउंट की क्लोजिंग करवा सकता है। इसलिए आप किस प्रकार से पीपीएफ अकाउंट को बंद करना चाहते हैं उसके हिसाब से टाइम पीरियड डाल सकते हैं।

PPF Calculator के लाभ

नीचे जानिए पीपीएफ कैलकुलेटर के मुख्य फायदे क्या है।

  • पीपीएफ कैलकुलेटर का इस्तेमाल करके आप इस बात के बारे में जान सकते हैं कि अगर आप एक निश्चित पैसे को निश्चित समय अवधि के लिए इन्वेस्टमेंट करते हैं तो उस पर आपको कितना ब्याज मिल सकता है।
  • पीपीएफ कैलकुलेटर के द्वारा आप टैक्स की इंफॉर्मेशन भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • पीपीएफ कैलकुलेटर का फायदा यह है कि इसके द्वारा आप यह भी जान सकते हैं कि आपको मैच्योरिटी के बाद कितने पैसे प्राप्त होंगे।
  • ऑनलाइन पीपीएफ कैलकुलेटर का इस्तेमाल करना काफी आसान है।
  • आप पीपीएफ फार्मूले के द्वारा आसानी से पीपीएफ ब्याज को कैलकुलेट कर सकते हैं।

PPF Calculator आपकी कैसे मदद करता है?

यह फाइनेंशियल टूल आपको पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट से रिलेटेड अपने सवालों को सॉल्व करने की परमिशन देता है। पीपीएफ कैलकुलेटर आपके द्वारा इन्वेस्टमेंट किए गए पैसे की बढ़ोतरी पर नजर बनाए रखता है।

 और ऐसे लोग जिनके पास पहले से ही पीपीएफ अकाउंट है वह इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं कि पीपीएफ की ब्याज दर समय-समय पर बदलती रहती है और वर्तमान के समय में ब्याज दरों में होने वाले बदलाव पर नजर रखना काफी सरल हो गया है।

हालांकि पब्लिक प्रोविडेंट फंड कैलकुलेटर की खोज हो जाने की वजह से पीपीएफ अकाउंट रखने वाले व्यक्ति को ब्याज दर में होने वाले मासिक बदलावों के बारे में पता लगाना सरल हो गया है।

पीपीएफ कैसे कैलकुलेट किया जाता है?

नीचे हमने आपको इस बात की जानकारी दी है कि आप मासिक पीपीएफ में ब्याज की गणना कैसे कर सकते हैं साथ ही एकमुश्त योगदान पर ब्याज की गणना कैसे कर सकते हैं।

1. मासिक योगदान

हम यह मान लेते हैं कि आप अपने पीपीएफ अकाउंट में हर महीने ₹12,500 डाल रहे हैं और साले 2021-2022 में इस इन्वेस्टमेंट पर ब्याज की दर 7.6% है।

इसके पश्चात ब्याज की कैलकुलेशन इस प्रकार से होगी।

जमा करने की तिथिमहीने की 5 तारीख को शेष राशिमहीने के अंत में बैलेंसन्यूनतम राशिब्याज जमायदि राशि 5 तारीख से पहले जमा हुआ, तो ब्याज होगा
02-Apr-2112,50012,50012,50079.1779.17
06-May-2112,50025,00012,50079.17158.33
0-Jun-2125,00037,50025,000158.33237.50
03-jul-2150,00050,00050,000316.67316.67
03-Aug-2162,00062,50062,000395.83395.83
04-Sep-2175,00075,00075,000457.00475.00
05-Oct-2187,00087,500087,000554.17554.17
07-Nov-2187,0001,00,00087,000554.17633.33
07-Dec-211,00,0001,12,0001,00,000633.33712.50
04-Jan-221,25,0001,25,0001,25,000791.67791.67
04-Feb-221,37,0001,37,0001,37,000870.83870.83
04-Mar-221,50,0001,50,0001,50,000950.00950.00
वित्तीय वर्ष में जमा किया गया कुल ब्याज5858.336175.00

इस प्रकार 2021-22 हेतु तकरीबन ₹5,858.33 आपके पब्लिक प्रोडक्ट अकाउंट में ब्याज के तौर पर आते परंतु हम आपको यह भी बता दें कि अगर आपने ₹5,858.33 हर महीने अपने पीपीएफ अकाउंट में 5 तारीख आने के पहले ही डाली होती तो आपको तकरीबन ₹316.67 ज्यादा मिलते।

2. एकमुश्त योगदान

अगर किसी कस्टमर ने एक साथ ही अपने पीपीएफ अकाउंट में पैसे डाले हैं तो उस पर ब्याज की कैलकुलेशन निम्नानुसार होगी।

जमा करने की तिथियोगदानमहीने की 5 तारीख को शेष राशिमहीने के अंत में शेष राशिन्यूनतम राशिब्याज जमा
02-Apr-211,50,000 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
06-May-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
03-Jun-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
03-jul-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
03-Aug-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
04-Sep-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
05-Oct-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
07-Nov-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
07-Dec-21 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
04-Jan-22 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
04-Feb-22 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
04-Mar-22 1,50,0001,50,0001,50,000950.00
वित्तीय वर्ष में जमा किया गया कुल ब्याज11400.00

इस मैटर में अगर कस्टमर के द्वारा पहली बार इन्वेस्टमेंट किसी महीने की 5 तारीख के बाद किया गया है तो उसे 1 महीने का ब्याज कम प्राप्त होता है। ऐसी सिचुएशन में व्यक्ति को ब्याज के तौर पर जो नुकसान होता है वह ₹950 का होता है।

पीपीएफ अकाउंट के लाभ क्या है?

पीपीएफ अकाउंट के लाभ निम्नानुसार है।

  • अगर आपका पीपीएफ अकाउंट है तो आप इंडिया पोस्ट की परमिशन से हर वित्त वर्ष के दरमियान कुछ पैसे की निकासी कर सकते है।
  • व्यक्ति चाहे तो पीपीएफ अकाउंट को मैच्योरिटी के बाद आगे भी जारी रख सकता है या उसे बंद करवा सकता है।
  • पीपीएफ अकाउंट 15 सालों में मैचयोर हो जाता है परंतु व्यक्ति चाहे तो इसे 5 साल और बढ़ा सकता है।
  • पीपीएफ अकाउंट से व्यक्ति चाहे तो बढ़ाए गए टाइम पीरियड के बाद भी कुछ पैसे की निकासी कर सकता है।
  • अगर पीपीएफ अकाउंट होल्डर ने एक्सटेंड टाइम पीरियड के दरमियान बिना योगदान मोड का सिलेक्शन किया है तो वह अपनी इच्छा के अनुसार पैसे निकाल सकता है।
  • जब हर महीने की पांचवी तारीख आती है तो उसी तारीख को पीपीएफ अकाउंट में ब्याज जमा हो जाता है जिसका अर्थ यह है कि 5 तारीख के बाद अगर आप अकाउंट में पैसे डालते हैं तो आपको ब्याज का बेनिफिट हासिल नहीं होगा।
  • पीपीएफ से जो पेमेंट होती है वह धारा 10 के तहत टैक्स से फ्री होती है।
  • पीपीएफ अकाउंट खुलवाने के बाद आप तीसरे वित्त वर्ष के दरमियान पीपीएफ अकाउंट से लोन ले सकते हैं।

PPF Calculation करने का फार्मूला

F = P[({(1+i)^n}-1)/i]

F = पीपीएफ की परिपक्वता आय

P = हर साल निवेश की गई मूल राशि

i = ब्याज की दर / 100

n = निवेश करने वाले वर्षों की संख्या

उदहारण

किसी व्यक्ति के द्वारा अगर तकरीबन ₹10000 अगले 15 साल के लिए 7.1% की ब्याज दर पर सालाना तौर पर इन्वेस्ट किया जा रहा है तो फिर,

कुल निवेश किया गया धन = 1,50,000 रु

15 वर्ष से अधिक का ब्याज = 1,21,214 रु

परिपक्वता के बाद मूल्य = 2,71,214 रुपये

इस प्रकार से 15 साल में व्यक्ति का कुल इन्वेस्टमेंट किया गया पैसा 150000 होगा और 15 सालों में उसे ब्याज के तौर पर ₹1,21,214 की प्राप्ति होगी। इस प्रकार जब पीपीएफ अकाउंट परिपक्व हो जाएगा तो व्यक्ति को टोटल ₹2,71,214 की प्राप्ति होगी।

PPF Calculator काम कैसे करता है?

PF Calculator के द्वारा सबसे पहले आपको निश्चित जगह में आप कितने पैसे इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं इसे इंटर करना होता है। उसके पश्चात आप कितने सालों तक पैसे इन्वेस्टमेंट करेंगे इसे इंटर करना होता है। इसके बाद आपको कैलकुलेशन करनी होती है जिससे आपको यह पता चलता है कि पीपीएफ अकाउंट जब परिपक्व हो जाएगा तो आपको कितने रुपए प्राप्त होंगे।

इससे आपको यह अंदाजा आता है कि वर्तमान में जो ब्याज दर चल रही है उसके हिसाब से आपको पीपीएफ अकाउंट परिपक्व होने पर कितनी रकम प्राप्त होगी। हालांकि पीपीएफ की ब्याज दर समय-समय पर चेंज होती रहती है। इसलिए आपको अकाउंट परिपक्व होने के बाद मिलने वाली रकम का अंदाजा बिल्कुल सही नहीं मानना है।

पीपीएफ की ब्याज दर

नीचे पीपीएफ की ब्याज दरें आपको टेबल के द्वारा समझाई गई हैं।

महीने का नाम/वर्षब्याज दर
अप्रैल-जून 2022  7.1%  
जनवरी-मार्च 2022  7.1%  
अक्टूबर-दिसंबर 2021  7.1%  
जुलाई- सितंबर 20217.1%  
अप्रैल-जून 2021  7.1%  
जनवरी-मार्च 20217.1%  
अक्टूबर-दिसंबर 20207.1%  

PPF से सम्बंधित प्रश्न उत्तर {FAQs}

पीपीएफ में 15 साल बाद कितना पैसा मिलता है?

ब्याज और मूल धन जोड़ने पर जो पैसा होता है वह आपको प्राप्त होता है।

पीपीएफ अकाउंट से पैसा कब निकाल सकते हैं?

अकाउंट परिपक्व होने के बाद अथवा इमरजेंसी की अवस्था में।

पीपीएफ अकाउंट कौन खुलवा सकता है?

भारत में रहने वाला व्यक्ति पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकता है

क्या पीपीएफ, FD से अच्छा है?

जी हां पीपीएफ, FD से अच्छा है।

Conclusion

आशा करते हैं पाठकों हमारे द्वारा बनाया गया यह PPF Calculator आपके लिए निश्चित ही उपयोगी सिद्ध हुआ होगा। यदि कोई व्यक्ति PPF इन्वेस्टमेंट करना चाहता है तो इन्वेस्टमेंट करने से पहले हमारे इस टूल की सहायता से अपने इन्वेस्टमेंट और रिटर्न की गणना कर सकता है।

इसके साथ ही साथ हमने यह भी बताया है कि आप किस तरह से इस कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आपको PPF Calculator में किसी भी तरह की समस्या दिखाई दे रही है तो कमेंट बॉक्स पर जरूर बताएं। आप चाहे तो हमारे कांटेक्ट पेज के माध्यम से हमें कांटेक्ट भी कर सकते हैं।

यदि आपको हमारे द्वारा है बनाया गया PPF Calculator पसंद आया हो तो। इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी PPF कैलकुलेट करने में सहायता हो।

PPF Calculator – Online Public Provident Fund Calculator

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap