टमाटर का वैज्ञानिक नाम क्या है? – Tamatar (Tomato) Ka Scientific Naam

वैसे आप सभी तो टमाटर के बारे में जानते ही होंगे।लेकिन अधिकतर लोग टमाटर का वैज्ञानिक (Scientific) नाम क्या है? यह नहीं जानते। टमाटर विश्व में सबसे ज्यादा उपयोग की जाने वाली सब्जी है। भारतीय रसोई टमाटर के बिना अधूरी है।

टमाटर को सब्जी के रूप में उपयोग किया जाता है लेकिन यह वास्तव में एक फल है। जिसका उपयोग आप सभी दैनिक जीवन में खाने में करते है। इसका उपयोग सभी लोग खाने में सब्जी के रूप में करते हैं।

विभिन्न सब्जियों, फलो और जानवरों के वैज्ञानिक नाम अधिकतर प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाते हैं। उनमें से टमाटर का वैज्ञानिक (Scientific) नाम क्या है? यह प्रश्न भी कई बार प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछा गया है। तो निश्चित ही आपको टमाटर के वैज्ञानिक नाम की जानकारी होनी चाहिए। तो चलिए टमाटर का वैज्ञानिक या साइंटिफिक नाम जान लेते हैं।

टमाटर का वैज्ञानिक नाम क्या है?

टमाटर का वैज्ञानिक नाम “लाइकोपर्सिकम एस्कुलेटम” होता है। तथा इंग्लिश में टमाटर का साइंटिफिक नाम “Lycopersicum Esculentum” होता है।

यह एक प्रकार का बेरी फल है। और यह युक्तांडपी अंडाशय से विकसित होता है।

इन्हे भी जाने

टमाटर का वर्गीकरण (Classification Of Tomato in Hindi)

Kingdom Plant
Order Solanales
Family Solanaceae
Genus Solanum
Species Solanum Lycopersicum
PhylumMagnoliophyta
Class Dicotyledonae
टमाटर का वर्गीकरण

टमाटर की खेती के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी

  • टमाटर का पौधा ज्यादा ठंडी और नमी दोनों चीजों को बर्दाश्त नहीं कर पाता है। जिस क्षेत्रों में बहुत ज्यादा ठंडी होती है वहां इसकी खेती न करें। क्योंकि अधिक ठंडी वाले स्थान में टमाटर की पैदावार बहुत ही कम होती है।
  • टमाटर की खेती के लिए न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। यदि 10 डिग्री से तापमान कम है तो वहां टमाटर की खेती नहीं करनी चाहिए। और अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस तक होनी चाहिए।
  • टमाटर की अच्छी पैदावार के लिए तापमान 20 से 25 डिग्री सेल्सियस उपयुक्त माना गया है।
  • टमाटर का पौधा न तो ज्यादा पानी को बर्दाश्त कर सकता है और ना ही ज्यादा सूखेपन को सहन कर सकता है।
  • टमाटर के खेत में जल निकासी की उचित व्यवस्था होनी चाहिए। यदि खेतों में जल भरा रहता है तो टमाटर कि खराब होने की संभावना अधिक होती है।
  • टमाटर की खेती के लिए मिट्टी का पीएच लेवल 5.5 से 6.8 तक होना चाहिए। टमाटर की खेती के लिए अम्लीय मिट्टी होना आवश्यक है अम्लीय मिट्टी में टमाटर की पैदावार बहुत ज्यादा बढ़ जाती है।
  • टमाटर के बीज लेते समय अच्छे बीजों का चुनाव करना जरूरी होता है। साथ में बीज का चुनाव करते समय ध्यान रखना होगा कि आपके क्षेत्र की जलवायु कैसी है। जलवायु के अनुसार टमाटर के किस्मों का चयन करें।
  • वैसे तो टमाटर की खेती गर्मी, बरसात और शीत तीनों मौसम में की जा सकती है लेकिन देश में शरद ऋतु में ही टमाटर की खेती ज्यादा की जाती है और शरद ऋतु ही टमाटर की खेती के लिए उपयुक्त समय माना जाता है।

और अधिक जानने के लिए विकिपीडिया से पढ़े।

टमाटर खाने के फायदे (Advantages of eating tomato)

  • टमाटर में पाए जाने वाले लाइकोपीन और कुछ flavonoids, antioxidants जो हमारे शरीर को रोगों से बचाने में मदद करते हैं।
  • टमाटर में कोलेस्ट्रॉल नहीं होता है और इसमें फाइबर अधिक मात्रा में होते हैं और फाइबर जो कि कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए जाना जाता है।
  • टमाटर हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। यह लोगों को सर्दी, जुकाम और विभिन्न रोगों से बचाने में मदद करते हैं।
  • टमाटर का सेवन हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है यह दस्त और कब्ज दोनों से ही पाचन तंत्र की रक्षा करता है।
  • टमाटर हड्डियों को मजबूत बनाता है टमाटर में विटामिन K और कैल्शियम पाए जाते हैं।
  • टमाटर का सेवन त्वचा को सुंदर बनाता है गाजर में पाए जाने वाला beta-carotene टमाटर में भी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है।
  • टमाटर में बहुत कम मात्रा में कोलेस्ट्रॉल पाया जाता है इसमें बहुत सारा पानी और फाइबर होता है इसलिए यह आपके वजन को नियंत्रित बनाए रखने में मददगार है।
  • टमाटर खाने से उच्च रक्तचाप कम होता है क्योंकि टमाटर में पोटेशियम पाया जाता है जो हमारे बॉडी के ब्लड प्रेशर को Maintain करके रखता है।

टमाटर खाने के नुकसान (Disadvantages of eating tomato)

  • टमाटर में बहुत अधिक मात्रा में अम्लीयता होती है। इसलिए इसका अधिक इस्तेमाल करने से एसिडिटी हो सकता है।
  • टमाटर का अधिक सेवन करने से बदबू भी आती है।
  • टमाटर की लंबी अवधि तक बहुत ज्यादा मात्रा में उपयोग करने से आपकी त्वचा का रंग बदल सकता है।

टमाटर से सम्बंधित कुछ प्रश्न उत्तर (FAQs)

टमाटर का रंग लाल क्यों हो जाता है?

टमाटर को लाल रंग देने वाला तत्व लाइकोपीन है जो सेहत के लिए फायदा से भरा हुआ है।

टमाटर की बुवाई का समय क्या है?

वैसे टमाटर की खेती तीनों सीजन में की जा सकती है लेकिन अधिकतर शीत ऋतु जुलाई से सितंबर में ही टमाटर की खेती ज्यादा की जाती है ।

टमाटर का पौधा कितने दिन में फल देता है?

टमाटर का पौधा बुवाई के 50 से 55 दिन पश्चात फल देता है।

टमाटर की सबसे अच्छी किस्म (Verity) कौन सी है?

टमाटर की सबसे अच्छी किस्में (Verity) US Nunhems- 2853, Seminis Abhilash hybrid F1, Syngenta Heem Sohna hybrid F1, अर्का रक्षक hybrid F1 है।

टमाटर में कौन सी विटामिन होती है?

टमाटर में विटामिन A, C, E, K, Folate पाए जाते हैं।

और जाने

टमाटर पर अंतिम शब्द

आशा करते हैं आप सभी को यह लेख Tamatar Ka Vaigyanik Naam पसंद आया होगा । इस लेख में हमने टमाटर का वैज्ञानिक या साइंटिफिक नाम क्या है? और टमाटर से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे टमाटर का वर्गीकरण, टमाटर की खेती, फायदे और नुकसान के बारे में बताया है।

इसी तरह के जानकारी युक्त लेख पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को जरूर सब्सक्राइब करें। और ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर। धन्यवाद

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap