Wholesale Business Ideas in Hindi 2022 – 50+ बेस्ट होलसेल बिज़नेस जाने

Wholesale Business Ideas in Hindi (थोक व्यापार आइडिया) : Wholesale का Business एक ऐसा बिजनेस है जिसके अंदर प्रोडक्ट Quantity में बिकता है। जिसकी वजह से जो Wholesaler होते हैं वह अच्छा खासा मुनाफा कमा पाते हैं।

दोस्तों कोई भी प्रोडक्ट ‌अगर आपका मार्केट में हिट हो जाता है तो आपको केवल आपको Supply का काम करना पड़ता है। और जो Retailer होते हैं वह अच्छा खासा माल बेचकर आपको अच्छा खासा प्रॉफिट या लाभ कमा के देते हैं।

तो आज हम आपके लिए ऐसे बेस्ट Wholesale Business Ideas in Hindi (थोक व्यापार आइडिया) लेकर आये है। जो कि हर Place पर चलते हैं और अगर इन बिजनेस की शुरुआत करते हैं तो आप अच्छा खासा मुनाफा कमा पाएंगे। और लॉन्ग टाइम के लिए यह बिजनेस है। अगर एक बार शुरुआत कर लिए तो सात पीढ़ियां तक आराम से ये बिजनेस चलता है।

वैसे रिटेल और होलसेल बिजनेस कि ये बेसिक मॉडल सबसे ज्यादा चर्चित है। क्योंकि ज्यादातर बिजनेस इन्हीं 2 तरीकों से होते हैं। तो अगर आप भी बिजनेस करना चाहते हैं। तो इन दोनों में से किसी एक आप्शन को Choose कर सकते हैं।

मार्केट में रिटेलर्स और होलसेल की वैसी कोई कमी नहीं है। लेकिन होलसेल का जो बिजनेस है वो ज्यादातर फायदेमंद साबित होता ही है। अगर आप भी होलसेल बिजनेसमैन बनना चाहते हैं। तो आपको निचे दी गयी जानकारी को अच्छे से पढ़ना चाहिए।

CONTENTS SHOW

Wholesale Business क्या है?

Wholesale Business को थोक व्यापार कहते हैं जो किसी भी प्रोडक्ट या उत्पाद का बिजनेस है। जिसमें आप अपने द्वारा चुने हुए किसी भी प्रोडक्ट को सीधे Company या उसके किसी डीलर्स से खरीदते हैं। और फिर छोटे दुकानदारों(Retailer) को बेचते हैं और वो सामान कम रेट पर आप Retailers को दिया जाता हैं। जिसमें आपको अपना मुनाफा या लाभ भी निकालना होता है। तो मार्केट में लगभग सभी प्रोडक्ट का होलसेल बिजनेस होता है। जरूरत के हर सामान का Distribution इस Business मॉडल को सफल बनाता है।

Wholesale Business में बस आपको सही प्रोडक्ट को चुनने की जरूरत होती है। और उसके सही मार्केट में पहुंच बनानी होती है। मार्केट के डिमांड को देखते हुए आप अपना कस्टमर बेस जितना बढ़ा पाएंगे। उतना ही आपका बिजनेस आपको मुनाफा देगा।

Wholesaler क्या या कौन होता है?

Wholesaler, Wholesale Business मालिक होता है जो की पुरे बिज़नेस को संभालता है। होलसेलर कंपनी से प्रोडक्ट खरीदता है और छोटे – छोटे दुकानदारों को प्रोडक्ट बेचता है।

Wholesaler और Retailer में क्या अंतर होता है?

Wholesaler और Retailer में निम्न लिखित अंतर होता है :

Wholesaler Retailer
होलसेलर हमेशा ज्यादा अमाउंट में प्रोडक्ट को सेल करते है। रिटेलर हमेशा कम अमाउंट में ही प्रोडक्ट को सेल करते हैं।
होलसेलर रिटेलर्स को प्रोडक्ट बेचते हैं। रिटेलर कंज्यूमर को प्रोडक्ट बेचते हैं।
होलसेलर कम पैसे पर रिटेलर तथा कंज्यूमर को अपना प्रोडक्ट बेचते हैंरिटेलर ज्यादा पैसे में प्रोडक्ट को ग्राहक या कंज्यूमर को बेचते हैं।
होलसेलर अपने मेंटेनेंस में कम पैसे खर्च करते है।जबकि रिटेलर्स अपने रिटेल को मेंटेन करने के लिए ज्यादा पैसे खर्च करते हैं। ताकि कस्टमर उनके रिटेल स्टोर से ज्यादा अट्रैक्ट हो सके।
वैसे तो होलसेलर और कस्टमर के बीच ईंटेरेक्शन बहुत ही कम होता है। लेकिन कभी-कभी कस्टमर भी होलसेल से प्रोडक्ट खरीद लेते हैं।कस्टमर ज्यादातर प्रोडक्ट खरीदने के लिए Retailer के पास ही जाते हैं।

Wholesale Business Ideas in Hindi – बेस्ट होलसेल बिज़नेस

निचे हमने कुछ अच्छे और बेहतरीन Wholesale Business Ideas in Hindi बताया है जिसे बढ़कर आपको आपके होलसेल बिज़नेस से सम्बंधित जानकारी जरूर मिलेगी।

Wholesale Business Ideas in Hindi
Wholesale Business Ideas in Hindi

Electronics Items Wholesale Business

इस आधुनिक जमाने में आजकल प्रत्येक घरों में AC, टीवी, Mobile रहना जरूरी है। तो ऐसे में आप Electronics Items Wholesale Business करते हो तो बिजनेस में बहुत अच्छा लाभ है।

Electronics Items के अंतर्गत टीवी, फ्रीज, AC, कूलर, वाशिंग मशीन, RO यह सब आते हैं। आपने अपने आसपास तो देखा ही होगा छोटे-छोटे इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान होती है जो की रिटेलर होते है। वे छोटे-छोटे इलेक्ट्रॉनिक्स की चीजें रखते हैं। रिटेलर्स को आप इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम बेच सकते हो।

बहुत सी ऐसी कंपनी है जैसे Voltas, Samsung और LG जो की डीलरशिप प्रोवाइड करती है। तो इन कंपनियों से भी जुड़कर आप Wholesale का Business कर सकते हो।

Footwear Wholesale Business

जूते चप्पल का Wholesale बिजनेस बहुत ही अच्छा बिजनेस है। प्रत्येक व्यक्ति को जूते चप्पल की आवश्यकता होती है तो ऐसे में आप सोच ही सकते हैं इस बिज़नेस में कितना मुनाफा होगा।

इसमें आपको किसी भी अच्छी कंपनी का प्रोडक्ट है खरीदना होता है और खुद की ब्रांड बनानी होती है। और उसके बाद Footwear को रिटेलर को बेच दिया जाता है।

Textile Product Wholesale Business

TEXTILE के अंदर बहुत से प्रोडक्ट आते है जैसे रेडीमेन्ट गारमेंट्स – जीन्स, शर्ट, टी शर्ट और साड़ी, कुर्ती, लहंगा आदि। अगर आप अपने आसपास देखेंगे तो हजारों की संख्या में कपड़ों की दुकान मिल जाएगी। और जो भी कपड़ों की दुकानें हैं वो ज्यादातर रिटेलर ही होते है। तो अगर आप अपने मार्केट में ही कपड़ा सप्लाई करेंगे या अपने मार्केट वालों को कपड़ा ला कर देंगे तो आप सोच ही सकते हो आपको कितना अच्छा खासा मुनाफा मिलेगा।

जो बड़े शोरूम वाले होते हैं वो सूरत, अहमदाबाद, दिल्ली जैसे बड़े शहरों से कपड़ा लाते हैं। और वे लोग अपने जो आसपास के रिटेलर है उनको Sale करते हैं। इसमें प्रॉब्लम होती है कि कई बार जो रिटेलर होते हैं वो इन बड़े शहरों तक नहीं जा पाते। जिसकी वजह से उनको कपड़ा महंगा मिलता है। और उनकी बिक्री भी अच्छी नहीं हो पाता और लाभ भी नहीं हो पता है अगर आप होलसेल का बिजनेस करते हैं तो अच्छा खासा मुनाफा देंगे तो आपसे सब लोग आपसे ही प्रोडक्ट ख़रीदेंगे। तो आप इसतरह Textile Product Wholesale Business कर सकते हैं।

FMCG (Fast Moving Consumer Goods) Product

इस बिजनेस की बात की जाये तो FMCG PRODUCT आपने सुना ही होगा। किराने की दुकान का बिज़नेस हमेशा चलने वाला बिज़नेस है। FMCG का पूरा नाम FAST MOVING CONSUMER GOODS मतलब वह प्रोडक्ट होते हैं जो कम लागत में तैयार किए जाते हैं और वह जल्द बिक जाते हैं। ये छोटे – छोटे प्रोडक्ट होते हैं जैसे दूध, फल, हरी सब्जियां, जूस, टॉयलेट पेपर, सोड़ा, वाशिंग पाउडर, साबुन, टुथपेस्ट ये वो प्रोडक्ट है जो रोजाना काम आते हैं।

अगर आप इन सभी प्रोडक्ट के होलसेल का काम करते हो प्रोडक्ट रिटेलर को देते हो तो जल्दी से जल्दी इसतरह के सामान बिक जाता है। इस बिज़नेस में लगाए गए पैसे को बहुत जल्दी रिकवर कर सकते है। और आप बहुत अच्छा खासा लाभ कमा सकते हो। ये ए क ऐसा प्रोडक्ट है जो कभी फेल नहीं हो सकता अगर आप इस बिजनेस को करते है।

अनाज का होलसेल बिज़नेस

आपने अपने आसपास देखा होगा कि गेहूं, चावल, बाजरा, खाल, पशु आहार इत्यादि। इन सब को बेचने वाले बिज़नेस मैन पीढ़ियों से बेच रहे हैं आज से नहीं पचास – साठ साल से उनकी इसी बिज़नेस की दुकानें हैं। और वो आज तक अच्छी प्रोग्रेस में है तो दोस्तों जो लम्बे समय से एक ही Wholesale Business में है इसका मतलब उस बिजनेस में बेनिफिट है।

इसमें आपको गेहूं चावल यह सब किसानों से डायरेक्ट लाना होता है। और कुछ – कुछ इनके ब्रोकर होते हैं वो आपको प्रोडक्ट दिला देते हैं और इसमें कस्टमर आपके रहते हैं। जैसे किरानो की दुकान वाले, रेस्टोरेंट्स, घरों में वो सब रहते हैं तो आपका माल तुरंत बिक जाता है तो अगर आप अच्छी रेट में लोगो को सामान देते हैं तो आप अच्छा खासा मुनाफा कमा पाएंगे।

इसके आलावा और कई होलसेल बिज़नेस है जिसमें अच्छा खासा मुनाफा कमाया जा सकता है।

इन्हे भी पढ़े :

Some Other Wholesale Business Ideas in Hindi

  • नारियल का होलसेल बिज़नेस
  • चीनी का होलसेल बिज़नेस
  • गर्ल्स क्लोथ्स होलसेल बिज़नेस
  • साड़ी होलसेल बिज़नेस
  • कारपेट का बिज़नेस
  • ड्राई फूड्स होलसेल
  • वॉच या घड़ी का बिज़नेस
  • टॉय (खिलौने) का होलसेल बिज़नेस
  • बैग और लगेज का बिज़नेस
  • सीमेंट होलसेल बिज़नेस
  • बुक्स होलसेल
  • सोफे का होलसेल बिज़नेस
  • ब्लैज़र होलसेल बिज़नेस
  • डेकोरेशन लाइट होलसेल का बिज़नेस
  • मेडिसिन होलसेल बिज़नेस
  • स्पीकर्स होलसेल बिज़नेस
  • सब्जी और फल होलसेल बिज़नेस
  • Beauty Product Wholesale Business

होलसेल बिज़नेस प्लान (Wholesale Business Plan in Hindi)

थोक बिक्री (Wholesale) का व्यापार कैसे शुरू करे? यह प्रश्न सभी के मन में होता है। तो अब हम उन बेसिक चीजों पर ध्यान देते हैं जो होलसेल बिजनेस करने और उसे सफल बनाने के लिए जरूरी है।

1. मार्केट रिसर्च (Market Research)

मार्केट रिसर्च करना हमेशा फायदेमंद रहता है क्योंकि चप्पल, जूते, दाल, चावल, खिलौने, मोबाइल फोन, इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स और लगभग जरूरत की हर चीजें Wholesale Business का स्कोप है। इसीलिए सही प्रोडक्ट का सलेक्शन आपको बिजनेस में Lead देगा।

आप जिस भी जगह अपना बिजनेस करना चाहते हैं। वो शहर हो या गांव वहां पर पहले देखना होगा कि मार्केट पे कौन सी चीज का जरुरत है या फिर वो कौन सा प्रोडक्ट है जो आपके एरिया में लोग उपयोग तो कर रहे हैं। पर उसका कोई होलसेल डिस्ट्रिब्यूटर मार्केट में नहीं है। ये जानकारी आपको काफी मदद करेगी जिससे आपको कौन सा प्रोडक्ट या कैटेगरी में बिजनेस करना है? ये डिसीजन लेने में आसानी होगी।

2. कंपनी के वेबसाइट पर जाना (Visit on Company Website)

सबसे आखरी स्टेप आता है कंपनी की वेबसाइट पर जाना, जहां से आपको कंपनी की सहीं जानकारी मिलेगी। और कई बार कंपनी की वेबसाइट पर सीधा लिखा रहता है कि कंपनी अपना बिजनेस बढ़ाना चाहती है। उसे होलसेल या डिस्ट्रीब्यूटर का तलाश भी है। अगर ये वाला ऑप्शन आपको मिल जाता है तो आपका आधा काम यूं ही आसान हो जाएगा। क्योंकि कई कंपनी होलसेल या डिस्ट्रीब्यूटर का बिजनेस खोलने वाले व्यक्ति को खुद ही गाइड करती है। क्योंकि आपका ग्रो करता बिजनेस आपको सीधे कंपनियां को फायदा पहुंचायेगा।

कंपनी का Selection करते हुए एक बार उसका बैकग्राउंड आपको जरूर चेक करना होगा। क्योंकि कई बार नई कंपनी शुरू-शुरू में तो मार्केट जमाने के लिए अच्छी क्वालिटी की प्रोडक्ट सप्लाई करती है। लेकिन बाद में क्वॉलिटी गिराने लगती है।

3. लाइसेंस की जरुरत (License Requirements)

वैसे Wholesale Business को करने के लिए लाइसेंस की भी जरूरत पड़ती है। यह आपके बिजनेस को सुरक्षित भी रखेगा और लिगल Formalities पूरी करने से आप हमेशा बेझिझक कांफिडेंस के साथ काम कर पाएंगे। यदि कभी भी आपके Stock पर रेड पड़टी है तो आप यह साबित कर पाएंगे कि आप एक लिगल बिजनेसमैन है। क्योंकि पैसों की लेन – देन के मामलों में लिगल डाक्यूमेंट का होना बहुत जरूरी होता है।

4. डिस्ट्रीब्यूटर ढूँढना (Find Distributer)

डिस्ट्रीब्यूटर को ढूंढना भी बहुत जरुरी है क्योंकि बिना सप्लायर के आप होलसेल बिजनेस नहीं कर पाएंगे। इसके लिए भी आपको मार्केट में निकलना पड़ेगा। और एक ऐसा Supplier ढूँढना होगा। जो आपको काफी कम रेट पर सीधे कंपनी से माल सप्लाई करे।

कई बार एक ही मार्केट में ऐसे एजेंट्स मिल जाते है जो एक ही कंपनी के होते है। उनसे अच्छा सम्बन्ध बनाना होगा। ताकि आप अपना प्रॉफिट मार्जिन ज्यादा से ज्यादा से निकाल सकें।

5. Account Management And Products Marketing

Wholesalers बिजनेस में पैसों की लागत, प्रोडक्ट की बिक्री, पैसों की बचत, लाभ, हानि आदि को मैनेज करने के लिए अकाउंट मैनेजर रखता है। और साथ ही साथ एक अट्रैक्टिव तरीके से मार्केटिंग कर ग्राहकों और रिटेलर्स को शोरूम तक आकर्षित करता है और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाता है।

Wholesale Business Process in Hindi

Wholesale के Business में निम्न involve होते है।

  • मैन्युफैक्चरर
  • होलसेलर
  • रिटेलर
  • कंज्यूमर
Wholesale Business Ideas in Hindi
Wholesale Business Process

मैन्युफैक्चरर

मैन्युफैक्चरर वे होते हैं जोकि प्रोडक्ट बनाते हैं। मैन्युफैक्चरर के द्वारा लार्ज स्केल पर प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग की जाती है।

होलसेलर

होलसेलर मैन्युफैक्चरर्स से लार्ज अमाउंट में प्रोडक्ट खरीदता है और उसे स्टोर करके रखता है। होलसेलर अपने प्रोडक्ट को रिटेलर को बड़े अधिक दाम पर बेचता है जिससे होलसेलर को काफी अच्छा खासा मुनाफा होता है।

रिटेलर

रिटेलर वे होते हैं जोकि होलसेलर से प्रोडक्ट खरीदता है। और ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए। अपने कंज्यूमर्स को प्रोडक्ट को थोड़े अधिक दाम पर बेचता है।

कंज्यूमर

कंजूमर वे होते हैं जो अपने दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले और अन्य वस्तुओं को रिटेल की दुकान से खरीदते है जिससे रिटेलर को काफी मुनाफा होता है।

इन्हे भी जरूर पढ़े

होलसेल या थोक बिक्री बिज़नेस फेल होने के कारण

जब भी कोई आप नया Wholesale बिजनेस शुरू करें। तो बिजनेस शुरू करने से पहले आपके माइंड में यहां होना चाहिए कि इनमें वे कौन-कौन से खास बात है? जिनको हमें गौर करना चाहिए। और इन्हीं कारणों की वजह से कई बार लोग होलसेल बिजनेस में फेल हो जाते है।

नीचे हमने कुछ प्रमुख कारण हैं जिनके वजह से होलसेल बिजनेस फेल हो जाता है :

बिजनेस की लोकेशन

आप अपने बिजनेस को किस लोकेशन पर स्टार्ट कर रहे हो? यह आपकी बिजनेस से सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बिजनेस का लोकेशन सही नहीं होने के कारण रिटेलर्स wholesale तक नहीं पहुंच पाते है। बिजनेस सही तरीके से नहीं चल पाता है।

खरीददारी (Purchase)

ऐसा person जो नया होलसेल बिजनेस शुरू किया। यदि वह प्रोडक्ट और मैन्युफैक्चरर की जानकारी ना लेकर डायरेक्ट खरीदारी कर लेता है। ऐसी स्थिति में उसे काफी हानि हो सकता है होलसेल बिजनेस बंद भी हो सकता है।

नॉट डिमांडेड प्रोडक्ट

प्रोडक्ट का होलसेल शुरू कर लेना बिल्कुल भी कस्टमर बेस नहीं है और मार्केट में भी प्रोडक्ट का डिमांड भी कम हो तो ऐसे में आपके प्रोडक्ट नहीं बिक पाते हैं। और होलसेल बिजनेस फेल हो जाता है।

अकाउंट मैनेजमेंट

जब भी होलसेलर को खरीदता है और उस प्रोडक्ट को जिस कीमत पर बेचता है तो उसके बीच का अंतर आपका प्रॉफिट नहीं होता है बल्कि उन्ही में से आपको वर्कर्स को सैलरी देना होता है तथा कई तरह के किराए देने होते हैं। मैं प्रॉपर तरीके से अकाउंट मैनेजमेंट नहीं होने के कारण होलसेल का बिजनेस फेल हो जाता है।

उधारी

होलसेल का बिजनेस है जिसमे उधर में सामान देने ही पड़ते हैं तो ऐसे में आपके द्वारा उधार चुकाने का एक समय सीमा का निर्धारण सही से नही कर पाने के कारण होलसेल का बिजनेस फेल हो जाता है।

मार्केटिंग या नेटवर्क

जो लोग नया-नया होलसेल बिजनेस शुरू करते हैं। उन्हें मार्केटिंग और नेटवर्क की जानकारी पर्याप्त मात्रा में ना होने के कारण भी होलसेल बिजनेस फेल हो जाता है। क्योंकि जो होलसेलर होता है वो अपना नेटवर्क नहीं बना पाता जिससे प्रोडक्ट भी नही बिकता है।

Wholesale Business Ideas से सम्बंधित प्रश्न उत्तर {FAQs}

होलसेल मार्केट क्या है?

होलसेल मार्केट या बिज़नेस में किसी भी specific प्रोडक्ट को बल्क अमाउंट में रिटेलर को बेचा जाता है।

मुनाफे वाले होलसेल बिजनेस कौन सा है?

कोई भी बिज़नेस छोटा बड़ा नहीं है अगर आप कस्टमर बेस अच्छा बना लेते है तो आपको बहुत मुनाफा होता है।

होलसेल बिजनेस कैसे किया जाता है?

होलसेल के बिज़नेस में होलसेलर द्वारा कंपनी से प्रोडक्ट ख़रीदा जाता है और अपने लाभ को ध्यान में रखते हुए इस प्रोडक्ट को रिटेलर्स को बेचा जाता है।

अंतिम शब्द होलसेल बिज़नेस आईडिया पर

आशा करते हैं दोस्तों आप सभी को यह लेख पसंद आया होगा। आज हमने Wholesale Business Ideas in Hindi, थोक व्यापार आइडिया बताया है।

अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया लेख पसंद आया हो तो हमारे ब्लॉग को जरूर सब्सक्राइब करें और अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके। हमारे साथ बने रहने के लिए धन्यवाद

Wholesale Business Ideas in Hindi

I am Tamesh Sonkar, Founder of desifunnel.com website. I am 21 years old now & final year student of B Pharma. I have a passion for reading as well as writing. I try to learn and teach something new every day.

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap